The Way Of Success

GS Guru Breaking News

द्रव्य का संगठन एवं प्रक्रति Nature And Composition Of Matter (railway ssc upsc)

 द्रव्य का संगठन एवं प्रक्रति Nature And Composition of Matter

ऐसी कोई भी वस्तु जो स्थान गिरती है वह जिसमें भार होता है द्रव कहलाती है जैसे लोहा बर्फ लकड़ी पानी गैस आदि किसी भी वस्तु का द्रव्यमान सदैव निश्चित रहता है चाहे उसे कहीं भी मापा जाए अर्थात किसी भी वस्तु का द्रव्यमान पृथ्वी पर या चंद्रमा पर समान ही रहेगा द्रव्य को नहीं उत्पन्न कर सकते हैं ना ही नष्ट कर सकते हैं हम सिर्फ इसको एक अवस्था से दूसरी अवस्था में बदल सकते हैं जैसे नाभिकीय अभिक्रिया में हम द्रव्य को ऊर्जा में परिवर्तित करते हैं

  ऊर्जा Energy

 किसी भी कार्य करने की क्षमता को ऊर्जा कहते हैं उर्जा सदैव संरक्षित रहती है अर्थात द्रव्य की भांति ऊर्जा को नाTu उत्पन्न किया जा सकता है और ना ही नष्ट किया जा सकता है परंतु इसके रूप को एक अवस्था से दूसरी अवस्था में परिवर्तित किया जा सकता है

 द्रव्य का वर्गीकरण Classification Of Matter

 ⇒भौतिक वर्गीकरण Physical Classification

द्रव्य की भौतिक या बाय संरचना के आधार पर इसे तीन भागों में  बांटा गया है ठोस द्रव और गैस एवं प्लाज्मा को चौथी अवस्था माना गया  है

 ⇒ठोस Solid

ऐसे पदार्थ जिनका एक निश्चित द्रव्यमान एवं निश्चित आयतन होता है वह ठोस कहलाते हैं यह एक प्रकार के कठोर पदार्थ होते हैं जो सदैव समान रहते हैं
क्रिस्टलीय ठोस Crystaline Solid

लगभग सभी ठोस क्रिस्टलीय होते हैं अर्थात इनकी एक निश्चित ज्यामिति आकृति होती है
- क्रिस्टलीय ठोस का निश्चित गलनांक होता है

⇒अक्रिस्टलीय ठोस

कुछ ठोस पदार्थ ऐसे होते हैं जिनकी कोई आकृति नहीं होती है ऐसे दोस्तों को क्रिस्टलीय ठोस कहते हैं जैसे स्टार्स  दूसरे शब्दों में कहें तो जोश द्रव ठंडा होने पर शुद्ध पशमीना परिवर्तित होकर अनियमित आकार के ठोस में परिवर्तित हो जाते हैं उसे अक्रिस्टलीय ठोस कहते हैं कांच क्रिस्टलीय ठोस का एक अच्छा उदाहरण है
- इन का गलनांक निश्चित नहीं होता है

* सोडियम क्लोराइड व अन्य लवण धातु ऑक्साइड धातु सल्फाइड आदि आयनिक ठोस कहलाते हैं
* हीरा सिल्का ग्रेफाइट आदि सभी प्राप्त परमाणु ठोस के उदाहरण हैं
*Wonder walls Bal
अणुओं के मध्य लगने वाले कमजोर आकर्षण  बोलो को वन डर वाल्स फोर्स कहते हैं
 ⇒द्रव लिक्विड्स
ऐसे पदार्थ जिनका आकार निश्चित होता है परंतु आयतन नहीं द्रव कहलाते हैं द्रव जिस पात्र में रखे जाते हैं उसी का आकार मैं परिवर्तित हो जाते हैं जैसे पानी दूध   अल्कोहल मिट्टी का तेल तारपीन का तेल आदि

 ⇒गैस Gas
ऐसे पदार्थ जिनका आकार व आयतन दोनों अनिश्चित होता है गैस कहलाते हैं गैसों में कोई पोस्ट नहीं होता है इसका वितरण बहुत अधिक होता है तथा इन्हें आसानी से कंप्रेस संपीड़ित किया जा सकता है
कुछ पदार्थ गैस ठोस द्रव तीनों अवस्था में पाए जाते हैं जैसे जल गंधक फास्फोरस इत्यादि
 कपूर नौसादर आयोडीन ऐसे पदार्थ है जो दोस्त से सीधे गैस में परिवर्तित हो जाते हैं  इस क्रिया को ही ऊर्ध्वपातन कहते हैं
पदार्थ की चौथी अवस्था प्लाज्मा को एवं पांचवी अवस्था बोस आइंस्टीन  Kundan set को माना जाता है
 आइए अब बात करते हैं विलियन की  क्योंकि हमारे दैनिक जीवन से लेकर सभी रासायनिक क्रियाओं में विलियन का एक महत्वपूर्ण स्थान  है villain solution दो या दो से अधिक शुद्ध पदार्थों के समांग मिश्रण को समान मात्रा में मिश्रण को विलेन कहते हैं विलियन में दो या दो से अधिक पदार्थ को समान मात्रा में मिलाया जाता है
तत्व Element

समान प्रकार के अर्थात समान परमाणु क्रमांक के परमाणुओं से बने हुए शुद्ध पदार्थ को हम तत्व कहते हैं जैसे H N O S Na Cu आदि तत्व तत्वों के परमाणु प्रोटॉन इलेक्ट्रॉन और न्यूट्रॉन से बने हुए होते हैं सर्व प्रथम कृत्रिम रूप से बनाया गया तत्व टेक्नेटियम टीसी था जिसे बर्कले ने कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में बनाया था भौतिक अवस्था के आधार पर हम तत्वों को ठोस द्रव तथा गैस में विभाजित कर सकते हैं अधिकांश तत्व ठोस अवस्था में ही पाए जाते हैं

to be contineud............

don't forget to share and subscribe me for further information's notification

No comments